आधुनिक भारतीय आर्य भाषा

आधुनिक भारतीय आर्य भाषा?

बी.ए.(प्रथम वर्ष)(प्रथम सेमेस्टर) हिंदी (हिंदी काव्य)

प्रश्न-6.भारतीय आर्य भाषा का परिचय देते हुए, इनकी विशेषताएँ बताइए?

अथवा

आधुनिक भारतीय आर्य भाषाओं की मुख्य विशेषताओं पर प्रकाश डालिए।

उत्तर- 1.आधुनिक भारतीय आर्य भाषा का परिचय-

अपभ्रंश भाषाओं से विकसित होने वाली आर्य भाषाएँ आधुनिक भारतीय आर्य भाषाएँ कहलाती हैं। इस प्रकार हिंदी की जननी अपभ्रंश है। शौरसेनी अपभ्रंश, मागधी, अर्द्धमागधी, महाराष्ट्रीय आदि आधुनिक भारतीय आर्य भाषाएँ हैं।

डॉ.धीरेन्द्र वर्मा ने इन भाषाओं का समय 1000 ई. से लेकर अबतक माना है। आधुनिक भारतीय आर्य भाषाओं में अधिकांश उपभाषाएँ क्षेत्र विशेष तक ही सीमित हैं। वहीं हिंदी की उपभाषाएँ(जैसे-पश्चिमी हिंदी, पूर्वी हिंदी, मराठी हिंदी आदि) कई क्षेत्रों में फैली है। इन्हीं उपभाषाओं की विविध बोलियों को हिंदी का वास्तविक इतिहास माना जाता है। बाद में यही भाषाएँ धीरे-धीरे व्याकरण के नियमों में बंधती जाती है और एक समय ऐसा आता है कि उसका विकास रुक जाता है। उस समय लोक भाषा का विकास होता है। आर्य भाषा का इतिहास इसका साक्षी है।

कहने का आशय यह है कि हिंदी एवं अन्य आधुनिक भारतीय आर्य भाषाओं का विकास अपभ्रंश के क्षेत्रीय भेदों से हुआ है। जिसे निम्न रूपों से समझा जा सकता है।

वैदिक संस्कृत>संस्कृत>पालि>प्राकृत>अपभ्रंश>हिंदी

2.आधुनिक भारतीय आर्य भाषाओं की मुख्य विशेषताएँ-

इसकी विशेषताएँ इस प्रकार से हैं-

1- संस्कृत में सिर्फ तीन लिंग थे लेकिन आधुनिक भारतीय आर्य भाषाओं में इनकी संख्या केवल दो रह गई।

2- सभी आधुनिक भारतीय आर्य भाषाओं में वचन संख्या केवल दो हैं।

3- आधुनिक भारतीय आर्य भाषाओं से पहले कारकों की संख्या अधिक थी परन्तु आधुनिक भारतीय आर्य भाषाओं में इनकी संख्या कम हो गई।

4- पहले की भाषाओं का शब्द भंडार तत्सम, तद्भव व देशज आदि थे लेकिन आधुनिक भारतीय आर्य भाषाओं में विदेशी शब्द भंडार जैसे- अंग्रेजी, पुर्तगाली, अरबी, फारसी आदि का प्रयोग हुआ है।

5- आधुनिक भारतीय आर्य भाषाएँ लगभग सभी आयोगात्मक या वियोगात्मक हो गई है।

6- आधुनिक भारतीय आर्य भाषाओं का विकास अपभ्रंश के विभिन्न रूपों में हुआ है।

7- आधुनिक भारतीय आर्य भाषाओं में भारत के बाहर बोली जाने वाली भाषाओं में नेपाली, सिंहली और जिप्सी भी उल्लेखनीय हैं।

8- अपभ्रंश के शब्द-रूपों की अपेक्षा आधुनिक भारतीय आर्य भाषाओं के शब्द रूप और भी काम हैं। केवल दो शब्द रूप पाए जाते हैं।  

=====X=====X=====X=====X=====X=

आधुनिक भारतीय आर्य भाषा https://hi.wikipedia.org/wiki/%E0%A4%B9%E0%A4%BF%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E0%A4%A6-%E0%A4%86%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%AF_%E0%A4%AD%E0%A4%BE%E0%A4%B7%E0%A4%BE%E0%A4%8F%E0%A4%81

डॉ. अजीत भारती

By hindi Bharti

Dr.Ajeet Bhartee M.A.hindi M.phile (hindi) P.hd.(hindi) CTET

error: Content is protected !!