cbse 10 hindi a paper 2020

cbse 10 hindi a paper 2020

cbse 10 hindi a paper 2020 ?

कक्षा -10 विषय-हिंदी-अ (क्षितिज-2)

Previous paper 2020 code3/2/1 Set-1

सी.बी.एस.ई. बोर्ड में क्षितिज  से 2020 में पूछे गए प्रश्न और उनके उत्तर


 (गद्यखंड) cbse 10 hindi a paper 2020


प्रश्न-7.निम्नलिखित प्रश्नों में से किन्हीं    चार प्रश्नों के उत्तर लगभग 30-40 शब्दों में लिखिए : 2×4=8 अंक

() ‘पानवाला एक हँसमुख स्वभाव वाला व्यक्ति है, परंतु उसके हृदय में संवेदना भी है।’ इस कथन पर अपने विचार व्यक्त कीजिए।

उत्तर- पानवाला भी एक संवेदनशील व्यक्ति है। वैसे तो वह चश्मेवाले का मज़ाक उड़ाता रहता था। उसको पागल कहता था। उसके मरने के बाद उसकी कीमत का अनुभव होता है। वह नेताजी की मूर्ति का हमेशा सम्मान करता था। उसमें देश-भक्ति कूट-कूटकर भरी थी। अतः पानवाला कैप्टन के मरने पर बहुत दुखी होता है।

() गर्मियों की उमस भरी शाम को भी बालगोबिन भगत किस प्रकार शीतल और मनमोहक बना देते थे?

उत्तर- इन दिनों भगत जी अपने घर के आँगन में बैठ जाते थे। धीरे-धीरे गाँववाले भी आ जाते थे। फिर वे गीत गाते और मंडली के लोग खंजड़ी एवं करताल बजाते थे। कभी-कभी बालगोबिन खंजड़ी लेकर सबके बीच में नाचने लगते थे। उनको देखकर सभी झूम उठते थे। इस तरह पूरा वातावरण संगीतमय हो जाता था।

() फ़ादर बुल्के की मृत्यु से लेखक आहत क्यों था?

उत्तर- लेखक का फ़ादर बुल्के से गहरा लगाव था। वे सरल और शांत स्वभाव के थे। हमेशा लेखक के सुख-दुःख में साथ रहते थे। घर के बड़ों की तरह व्यवहार करते थे। उनके जहरबाद से मरने पर लेखक बहुत दुखी होता है।

() मन्नू भंडारी के पिता ने अपनी आर्थिक विवशताएँ कभी बच्चों को क्यों नहीं बताईं होंगी?

उत्तर- एक तो वे अहंवादी स्वभाव के थे।  जिसके कारण अपनी तकलीफ किसी को नहीं बताते थे। दूसरा कारण वे अपनी परेशानियों में बच्चों को शामिल नहीं करना चाहते थे।

नोट- 2021 के पाठ्यक्रम में इस पाठ(एक कहानी यह भी) को शामिल नहीं किया गया।

(ड.) बिस्मिल्ला खाँ जीवनभर ईश्वर से क्या माँगते रहे और क्यों ? इससे उनकी किस विशेषता का पता चलता है?

उत्तर- बिस्मिल्ला खाँ जीवनभर ईश्वर से सच्चा सुर माँगते रहे। उन्हें लगता था कि वे अभी भी सही से शहनाई नहीं बजा पाते हैं। इससे उनके सरल स्वभाव का पता चलता है। उनमें अभी भी सीखने की ललक थी।

नोट- 2021 के पाठ्यक्रम में इस पाठ(नौबत खाने में इबादत) को शामिल नहीं किया गया।


 (काव्यखंड) cbse 10 hindi a paper 2020


प्रश्न-9.निम्नलिखित प्रश्नों में से किन्हीं    चार प्रश्नों के उत्तर लगभग 30-40 शब्दों में लिखिए : 2×4=8 अंक

() परशुराम विश्वामित्र से लक्ष्मण की शिकायत किन शब्दों में करते हैं ?

उत्तर- निम्न शब्दों में-

1- यह बालक मूर्ख और नियंत्रण से बहार है।

2- यह अपने कुल के लिए घातक है।

3- इसे मैं बालक समझकर नहीं मार रहा हूँ।

4- ये अब सच में वध करने के योग्य हो गया है।

5- आपके सामने वह कड़वे वचन बोल रहा है।

() ‘छाया मत छूना’ कविता में ‘जितना ही दौड़ा तू उतना ही भरमाया’ के माध्यम से कवि क्या कहना चाहता है?

उत्तर- जिस प्रकार रेगिस्तान में प्यासे  हिरन को दूर से भ्रम के कारण पानी दिखाई देता है और निकट जाने पर कुछ नहीं मिलता। ठीक उसी प्रकार मनुष्य भी प्रसिद्धि, धन-दौलत, सम्मान आदि को पाने के लिए इनके पीछे दौड़ता रहता है। लेकिन वह उतना ही उससे दूर होता जाता है। ये चीजें दिखावा मात्र होती हैं।  

नोट- 2021 के पाठ्यक्रम में इस पाठ(छाया मत छूना) को शामिल नहीं किया गया।

()  ‘यह दन्तुरित मुसकान’ कविता में ‘बाँस और बबूल’ किसके प्रतीक हैं?

उत्तर- ‘बाँस और बबूल’ कठोर हृदय वाले व्यक्ति का प्रतीक हैं। ऐसे लोगों का  हृदय सरलता से नहीं पिघलता है। लेकिन जब किसी शिशु की मुसकान देखते हैं तब इनका हृदय पिघल जाता है। शिशु की मुसकान में बहुत शक्ति होती है।

नोट- 2021 के पाठ्यक्रम में इस पाठ(यह दंतुरित मुसकान) को शामिल नहीं किया गया।

() ‘कन्यादान’ कविता में माँ की सोच परंपरागत माँ से कैसे भिन्न है?

उत्तर- परंपरागत माँ हेमशा सभी स्थितियों में सहन करने के लिए कहती है। लेकिन ‘कन्यादान’ कविता की माँ साहसी और निडर बने रहने की बात  कहती है। वह हिम्मत देती है। शोषण करने वालों से सावधान रहने को कहती है। कठिन समय में भी समझदारी से काम करने के लिए प्रेरित करती है।

(ड.) संगतकार की आवाज़ में हिचक क्यों सुनाई देती है ?

उत्तर- जब मुख्य गायक गाता है तब सांगतकार जानबूझकर अपनी आवाज नीचे रखता है। क्योंकि वह उसका सम्मान करता है। हमेशा उसको आगे रखना चाहता है। वह उसे सफल देखना चाहता है। इसे हम सांगतकार की  मानवता ही कहेंगे।

नोट- 2021 के पाठ्यक्रम में इस पाठ(संगतकार) को शामिल नहीं किया गया।


cbse 10 hindi a paper 2020

धन्यवाद !

डॉ. अजीत भारती

By hindi Bharti

Dr.Ajeet Bhartee M.A.hindi M.phile (hindi) P.hd.(hindi) CTET

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!